मीडिया मिर्ची

रिम्स में भर्ती लालू यादव की कुत्तों ने कर दी नींद हराम, अब पेइंग वार्ड चाहते हैं RJD अध्यक्ष

lalu-prasad-yadav-pti_650x400_71525145755

बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव इन दिनों एक नई मुश्किल में हैं। इस बार उनकी मुश्किल का कारण उनके ऊपर चल रहा कोई मुकदमा नहीं बल्कि रांची के कुत्‍ते हैं। लालू प्रसाद को शिकायत है कि ये कुत्‍ते रात में उनकी नींद खराब कर रहे हैं। जब भी वह सोने की कोशिश करते हैं। ये कुत्‍ते शोर मचाकर उनकी नींद खराब कर देते हैं। इसके अलावा लालू प्रसाद के लिए डेंगू वाले मच्‍छर भी बड़ी समस्‍या बने हुए हैं। इससे बचने के लिए लालू प्रसाद ने अपने लिए पेइंग वॉर्ड की मांग की है।

बता दें कि लालू प्रसाद इन दिनों रांची के राजेंद्र आयुर्विज्ञान संस्थान (रिम्स) में अपना इलाज करवा रहे हैं। वह सुपर स्‍पेशलिटी विभाग में भर्ती हैं। लालू प्रसाद के अटेंडेंट और विधायक भोला यादव ने मीडिया से कहा कि दिन भर तो ये कुत्‍ते खामोश रहते हैं। लेकिन रात होते ही भौंक-भौंककर इतना शोर मचाते हैं कि लालू प्रसाद का सोना हराम हो जाता है। वे चाहकर भी नहीं सो पा रहे हैं। ये स्थिति उनके स्‍वास्‍थ्‍य पर प्रतिकूल असर डाल रही है। इसी के लिए लालू प्रसाद ने अस्‍पताल प्रशासन से खुद को पेइंग वॉर्ड में शिफ्ट करने के लिए कहा है। उस वॉर्ड में रुकने का जो भी खर्च होगा, वह स्‍वयं उसे देने के लिए तैयार हैं।

विधायक भोला यादव ने आगे बताया कि लालू प्रसाद की सेहत में अभी कोई सुधार नहीं हुआ है। जबकि उनके कमरे का बाथरूम बेहद खराब है। वहां से बदबू भी आती है। पेइंग वॉर्ड की मांग इसीलिए की गई है ताकि लालू प्रसाद अपने कमरे में आराम से रह सकें और टहल सकें। टहलने से लालू प्रसाद का शुगर लेवल सामान्‍य रखने में मदद मिलेगी।

वैसे बता दें कि चारा घोटाला मामले के दोषी और राजद के सुप्रीमो लालू प्रसाद ने अंतरिम जमानत अवधि खत्‍म होने के बाद सीबीआई कोर्ट के सामने सरेंडर किया था। इसी के बाद अदालत ने उन्‍हें वापस बिरसा मुंडा जेल भेजने के आदेश दिए थे। बाद में लालू प्रसाद के वकीलों ने कोर्ट से अपील की थी कि उनकी खराब सेहत के कारण उन्‍हें रिम्‍स अस्‍पताल में इलाज का मौका दिया जाए। इसके बाद कोर्ट ने जेल प्रशासन को उनके स्‍वास्‍थ्‍य का ख्‍याल रखने का निर्देश दिया था।

वहीं इस खबर के मीडिया में आने के बाद जद (यू) के प्रवक्ता नीरज कुमार ने सोमवार को तंज कसते हुए ट्वीट किया, “अब देखिए। अभी तक तो अदालत से ही बाहर रहने का गुहार लगा रहे थ़े, अब ‘कुत्ता’ और ‘मच्छर’ से भी डर लगने लगा। महोदय, आपके राज में बिहार की जनता भी बहुत डरी हुई थी। कहावत है न ‘बोए पेड़ बबूल का तो आम कहां से होए।”