खास खबर भड़ास

अमेरिका ने की म्यांमार के रोहिंग्या मुसलमानों के “नस्लीय सफाए” की निंदा

US condemns

वाशिंगटन: अमेरिका के हाउस ऑफ रीप्रेजेंटेटिव्स ने बौद्ध बहुल राष्ट्र म्यांमार की सरकार की कटु आलोचना करते हुए रोहिंग्या मुसलमानों के “नस्लीय सफाए” की निंदा की और वहां के नेताओं से उत्तरी रखाइन राज्य में अल्पसंख्यकों पर हो रहे हमलों को खत्म करने की मांग की।

सदन ने कल एक प्रस्ताव पारित कर रखाइन राज्य में तत्काल मानवीय सहायता बहाल करने की अपील की। अशांति के कारण इस राज्य के छह लाख रोहिंग्या मुस्लिम भाग कर बांग्लादेश जाने के लिए मजबूर हुए हैं। सदन के डेमोक्रेटिक व्हिप स्टेनी एच होयर ने एक बयान में कहा, “यह जनसंहार बंद होना चाहिए और हमारा प्रस्ताव बर्मा के नेताओं को एक कड़ा संदेश देने के लिए है कि लोकतंत्र की पुन:स्थापना करने की उनकी प्रतिबद्धता को बर्मा की सीमाओं के भीतर रह रहे सभी लोगों के व्यक्तिगत अधिकार और स्वतंत्रता के लिए दिए जाने वाले सम्मान के आधार पर आंका जाएगा चाहे फिर वह किसी भी धर्म या नस्ल के हों।”

कांग्रेस सासंद जो क्रोले और एलियट एंगेल द्वारा पेश गए प्रस्ताव में सैन्य और सुरक्षा बलों द्वारा की गई “भयावह कार्रवाई” की निंदा की गई और हिंसा बंद करने की मांग की गई।