खास खबर भड़ास

दूल्हों के घोड़ी चढ़ने पर रोक का विरोध

Resistance to the ban on climbing bulls

भोपाल। शहर में घोड़ो के उपयोग पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगने के बाद से ही इसका विरोध भी शुरू हो गया है। बता दें कि यह प्रतिबंध ऐसे समय पर लगा है जब शादी-ब्याह का सीजन चल रहा है। वहीं इस प्रतिबंध के चलते कई परिवारों के सामने बेरोजगारी का संकट पैदा हो गया है।

घोड़ा मालिकों का कहना है कि पूरे साल में सिर्फ चार महीने शादी का सीजन रहता है। बाकी के आठ महीने तो घोड़ों को बैठे-बैठे खिलाना पड़ता है। इन घोड़ो से ही हमारा परिवार चलता है। यदि शादी-ब्याह और चल समारोह में घोड़ों के उपयोग पर प्रतिबंध लग जाएगा तो परिवार कैसे पालेंगे।

सौ से अधिक परिवारों की आजीविका का साधन हैं ये घोड़े
गौरतलब है कि अकेले भोपाल में करीब 100 परिवारों की आजीविका का साधन ये घोड़े ही हैं। ऐसे में अगर नगर निगम घोड़ों के उपयोग से प्रतिबंध नहीं हटाती है तो इन परिवारों के सामने भुखमरी का संकट पैदा हो जाएगा। वहीं सोमवार को इस आदेश के खिलाफ सभी घोड़े वाले महापौर से मिलकर विरोध जताएंगे।