खरी खोटी खास खबर

बैंकिंग घोटाले पर राहुल गांधी का सीधे अरुण जेटली पर हमला, बोले- आरोपी ने वकील बेटी को दिए मोटे पैसे

Rahul Gandhi's direct attack on Arun Jaitley

नई दिल्ली: पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में अरबों के घोटाले के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर वित्त मंत्री अरुण जेटली को आड़े हाथों लिया है. राहुल ने घोटाले के मुख्य आरोपी नीरव मोदी और अरुण जेटली की वकील बेटी से कानूनी सलाह के लिए हुई कथित लेनदेन का जिक्र करते हुए खामोशी पर सवाल उठाए हैं.

कांग्रेस अध्यक्ष ने पीएनबी घोटाले के बाद हुए एक लॉ फर्म पर सीबीआई छापे को लेकर कहा कि जेटली की बेटी के ठिकानों पर छापेमारी क्यों नहीं हुई है. सीबीआई ने 26 फरवरी को मुंबई के एक जानेमाने कानूनी फर्म साइरिल अमरचंद मंगलदास के कार्यालय पर छापे मारे थे. फरवरी में घोटाले का खुलासा होने के एक महीने पहले मोदी ने यहां लोअर परेल स्थित इस फर्म की सेवाएं ली थी.

राहुल ने सोमवार को ट्वीट कर कहा, ”अब पता चला कि हमारे वित्त मंत्री इस मामले पर चुप इस वजह से थे क्योंकि उन्हें अपनी वकील बेटी को बचाना था. क्योंकि उनकी बेटी को घोटाले के आरोपी द्वारा घोटाला सार्वजनिक होने से पहले फीस दी गई थी. सीबीआई जांच के दौरान अगर अन्य लॉ फर्मों पर छापेमारी कर रही थी तो अरुण जेटली की बेटी की फर्म पर क्यों नहीं की गई?”

आपको बता दें कि घोटाला सार्वजनिक होने के कई दिनों बाद अरुण जेटली ने चुप्पी तोड़ी थी. उन्होंने कहा था कि घोटालेबाजों को सजा दिलाने के लिए भारतीय कानून को सख्त किया जाएगा.

पंजाब नेशनल बैंक में हुए 29 हजार करोड़ रुपये के घोटाले के बाद से आरोपी नीरव मोदी और मेहुल चोकसी फरार है. भारत सरकार ने दोनों मुख्य आरोपियों समेत उनसे जुड़े लोगों के पासपोर्ट रद्द कर दिये हैं. सीबीआई, ईडी और आयकर विभाग की टीम लगातार हीरा कारोबारी नीरव मोदी और मेहुल चोकसी से जुड़ी कंपनियों पर छापेमारी कर रही है.

वहीं विपक्षी दलों का कहना है कि सरकार की मदद से दोनों आरोपी फरार हुआ है. कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी दल लगातार पीएनबी घोटाले को लेकर सरकार को घेर रही है. संसद के बजट सत्र में इसी वजह से व्यवधान खड़ा हो रहा है. मेहुल चोकसी भारत लौटने से इनकार कर चुका है. वहीं नीरव मोदी ने कानूनी लड़ाई के बाद जीत दावा किया है.