खास खबर भड़ास

कश्मीर मुद्दे के समाधान के लिए प्रस्ताव तैयार कर रही इमरान सरकार

mv62kfc8_imran-khan_625x300_24_August_18

पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ के चीफ और पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री इमरान खान सत्ता संभालने के साथ ही भारत के साथ दोस्ती और अच्छे संबंधों की वकालत करते दिखाई दे रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान की इमरान खान सरकार ने भारतीय कश्मीर के हालात पर चिंता जताते हुए मानवाधिकार संस्था में इसकी शिकायत की है। दरअसल पाकिस्तान की केन्द्रीय मानवाधिकार मंत्री डॉ. शिरीन माजारी द्वारा अन्तरराष्ट्रीय मानवाधिकार वॉच संस्था के प्रमुख को इस संबंध में एक पत्र लिखा गया है। इस पत्र में डॉ. शिरीन माजारी ने भारतीय कश्मीर और फलस्तीन के हालात पर चिंता और नाराजगी जाहिर की है। इसके साथ ही डॉ. शिरीन ने अन्तरराष्ट्रीय मानवाधिकार संस्था को इस संबंध में कड़े कदम उठाने को कहा है।

बता दें कि अन्तरराष्ट्रीय Humanright Watch संस्था के प्रमुख ब्रैड एडम्स ने इमरान सरकार को पत्र लिखकर पाकिस्तान में मानवाधिकारों के मुद्दों पर अपनी राय जाहिर की थी। जिसके जवाब में शिरीज मजारी ने ब्रैड एडम्स को पत्र लिखकर जवाब दिया है। पाकिस्तानी मानवाधिकार मंत्री मजारी ने कश्मीर, फलस्तीन के साथ-साथ पश्चिमी देशों में जिस तरह से मुस्लिमों के साथ भेदभाव किया जाता है, इस पर भी अपनी नाराजगी जाहिर की थी। गौरतलब है कि एक तरफ इमरान सरकार भारत के साथ बातचीत करना चाहती है, वहीं दूसरी तरफ वह भारत की शिकायत कर रही है। ऐसे में इस तरह के माहौल में बातचीत की सार्थक पहल कैसे होगी? इसका अंदाजा खुद ही लगाया जा सकता है।

हाल ही में खबर आयी थी कि डॉ. शिरीन मजारी ने पाकिस्तान में मीडिया के साथ बातचीत में कहा था कि उनकी सरकार कश्मीर मुद्दे को हल करने के लिए एक प्रस्ताव तैयार कर रही है, जो कि अगले एक हफ्ते में तैयार हो जाएगा। इसके साथ ही ये भी चर्चाएं थीं कि भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज अपने पाकिस्तानी समकक्ष शाह महमूद कुरैशी से अमेरिका में अगले माह मुलाकात कर सकती हैं। दरअसल दोनों नेता यूनाइटेड नेशन की सालाना आम सभा में शिरकत करने के लिए अमेरिका जाएंगे, जहां दोनों के बीच बैठक की संभावना जतायी जा रही है। हालांकि अभी तक अधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि नहीं हुई है।