खास खबर टी वी तमाशा

सीरीज़ हारने के बाद मीडिया पर बिफरे विराट कोहली, पत्रकार पर ही दाग दिया ये सवाल

sa_kohli_angry

साढ़े तीन साल से भारत की कप्तानी कर रहे विराट कोहली हारने के बाद खुद पर काबू नहीं रख पाते और मीडिया के सवालों का जवाब देने की जगह उनसे ही तकरार करने लगते हैं।

हार के बाद मीडिया से कोहली की हुई तकरार

इंग्लैंड के खिलाफ बुरी तरह से 1-4 से सीरीज हारने के बाद विराट से जब यह पूछा गया कि क्या आप अब भी यह मानते हैं कि यह विदेशी दौरा करने वाली दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम है तो उन्होंने जवाब देने की बजाय पत्रकार से ही सवाल दागा कि आपको क्या लगता है? पत्रकार ने कहा कि मुझे तो ऐसा नहीं लगता तो विराट ने कहा कि यह आपका सोचना होगा। मालूम हो कि विराट और कोच रवि शास्त्री लगातार यही कहते आ रहे हैं कि यह दौरा करने वाली दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम है। यह पिछले 15 साल में विदेश जाने वाली भारत की सर्वश्रेष्ठ टीम है। हालांकि टीम कठिन दौरों पर जीत हासिल नहीं कर सकी है।

द. अफ्रीका में भी हुआ था ऐसा

ऐसा ही कुछ दक्षिण अफ्रीका में लगातार दूसरा टेस्ट हारने के बाद सेंचुरियन में हुआ था। उस सीरीज में विराट ने लगातार दो टेस्ट में उप कप्तान अजिंक्य रहाणे को बाहर किया था और टीम दोनों मैच हारी थी। द. अफ्रीका के खिलाफ दूसरा टेस्ट मैच हारने के बाद जब कोहली प्रेस कांफ्रेंस में आए थे तो एक द. अफ्रीकी पत्रकार ने कोहली से पूछा था कि आप भारत में अच्छा प्रदर्शन करते हैं, लेकिन जब यहां आते हैं तो आपकी निरंतरता कायम नहीं रहती। क्या इसका कारण आपका अंतिम एकादश ठीक तरह से ना चुनना है या बल्लेबाजी का सही से ना चलना। इस पर कोहली ने गुस्साते हुए पत्रकार से ही दक्षिण अफ्रीकी टीम के भारत में इतिहास के बारे में पूछना शुरू कर दिया था। कोहली ने जवाबी सवाल पूछा था कि लगातार बदलाव के बाद हमने कितने मैच जीते हैं? इसके जवाब में पत्रकार ने कहा कि यकीनन आपने मुकाबले जीते, लेकिन अपने घर में। कोहली ने फिर से उन्हें जवाब देते हुए कहा, हमने 21 जीते और सिर्फ दो हारे। साथ ही कोहली ने पूछा था कि द.अफ्रीका ने भारत में आकर कितने मैच जीत लिए। इसके बाद मामले को बढ़ता देख मीडिया मैनेजर ने मुद्दे को संभाला और दूसरे पत्रकार से सवाल पूछने को कहा।

इससे पहले जब एक भारतीय पत्रकार ने उनसे पूछा था कि आप पिछले काफी समय से भारतीय उपमहाद्वीप में खेल रहे हैं और वहां अंतिम एकादश चुनने का आपके पास सर्वश्रेष्ठ फॉर्मूला रहा है। यह भी वैसी ही पिच थी। आप अपने सर्वश्रेष्ठ एकादश के फॉर्मूला को नहीं अपना पाए तो उन्होंने जवाब देने की जगह उलटा सवाल पूछा कि आपका सर्वश्रेष्ठ एकादश क्या है? अगर हम यह मैच जीत जाते तो सर्वश्रेष्ठ एकादश क्या होता? जब पत्रकार ने उनसे कहा कि मेरा सवाल इस पिच पर अंतिम एकादश चुनने को लेकर है तो उन्होंने कहा कि हम रिजल्ट के आधार पर टीम का चयन नहीं करते हैं। भारतीय टीम में कपिल, गावस्कर, तेंदुलकर, अजहरुद्दीन, गांगुली, द्रविड़, कुंबले और धौनी जैसे कप्तान दिए। इसमें सबसे ज्यादा आक्रामक सौरव गांगुली रहे। हालांकि, वह भी क्रीज पर ही आक्रामक रहते थे। बाकी जगह वह भी शांत हो जाते थे, लेकिन वर्तमान कप्तान विराट कोहली इस कला को अब तक सीख नहीं पाए हैं।

कठिन सीरीज थी

इस तकरार से इतर भारतीय कप्तान ने कहा कि पंत और राहुल ने अच्छी बल्लेबाजी की। तीन विकेट गिरने के बाद अच्छा स्कोर बनाने का श्रेय इन दोनों को जाता है। स्कोरलाइन में भले ही यह नहीं दिखाई देगा, लेकिन दोनों टीमों ने शानदार खेल दिखाया। मैंने अब तक जो भी सीरीज खेली है यह उनमें सर्वश्रेष्ठ है और टेस्ट क्रिकेट की भलाई के लिए बढ़िया है।