खास खबर सियासत

राहुल गांधीः छत्तीसगढ़ में जीत के बाद CM के नाम का होगा ऐलान

rg_755_1533914918_618x347

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आज छत्तीसगढ़ के दौरे पर थे और उन्होंने राजधानी रायपुर में पार्टी के नए मुख्यालय का उद्घाटन किया, साथ ही राज्य में कुछ महीनों के अंदर होने वाले चुनाव से पहले अपने चुनावी शंखनाद का आगाज कर दिया.

राहुल गांधी ने नए मुख्यालय के उद्घाटन के अलावा कई मामलों पर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को घेरा. उन्होंने सरकार पर जमकर निशाना साधा. साथ ही साफ किया कि राज्य में चुनाव जीतने के बाद ही मुख्यमंत्री के नाम का ऐलान किया जाएगा.

ऐलान से हो सकता है मतभेद

एक दिन के दौरे पर रायपुर में राहुल गांधी ने कई कार्यक्रमों में हिस्सा लिया जिसमें उन्होंने पत्रकारों के साथ बंद कमरे में चर्चा की. इस चर्चा में उन्होंने कई ऐसे मामलों से पत्रकारों को रू-ब-रू कराया जो आने वाले दिनों में कांग्रेस की रणनीति का हिस्सा बन सकते है. हालांकि यह चर्चा अनौपचारिक थी.

राहुल गांधी ने साफ किया कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की योजना ना तो किसी को मुख्यमंत्री प्रोजेक्ट करने की है और ना ही उनके समक्ष पार्टी नेताओं की कोई रैंकिंग है. मसलन पार्टी में नंबर एक, दो, तीन पर कोई भी नेता ना होकर सिर्फ नंबर वन दुश्मन बीजेपी है. उन्होंने कहा कि चुनाव के पहले वो किसी को भी मुख्यमंत्री का चेहरा नहीं मान रहे है. चुनाव जीतने के बाद ही इस मामले में कोई फैसला होगा.

इस दौरान राहुल गांधी से जब ये पूछा गया कि उन्होंने पंजाब विधानसभा चुनाव के पूर्व में अमरिंदर सिंह को मुख्यमंत्री घोषित किया था तो छत्तीसगढ़ में क्यों नहीं. इस पर राहुल ने स्वीकारा की ऐसे में यहां मतभेद हो सकते है और इसका खमियाजा पार्टी को उठाना पड़ सकता है.

अजित जोगी की नो एंट्री

अजित जोगी की वापसी पर राहुल गांधी ने साफ किया कि अब पूर्व मुख्यमंत्री जोगी की कांग्रेस में फिर से वापसी की कोई संभावना नहीं है और न ही जोगी की पार्टी के साथ किसी भी तरह का कोई गठबंधन होगा. उन्होंने आगे कहा कि किसी भी पार्टी से गठबंधन उसके दमखम से होता है. इस लिहाज से छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश में बीएसपी के साथ गठबंधन और सीटों के बंटवारे पर चर्चा चल रही है.

उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस का अलग गठबंधन बन रहा है. इसमें एसपी और बीएसपी समेत कुछ छोटे दल शामिल हैं. यह गठबंधन महागठबंधन से अलग होगा. इस गठबंधन के जरिये उत्तर प्रदेश, बिहार और मध्य प्रदेश जैसे बड़े राज्यों से बीजेपी की संसदीय सीटों के सफाए की योजना है.

सितंबर तक होगी घोषणा

छत्तीसगढ़ में टिकट वितरण को लेकर राहुल गांधी ने पहले ऐलान किया था कि 15 अगस्त से पहले वह आधी से ज्यादा सीटों पर अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर देंगे, लेकिन आज उन्होंने साफ किया कि अब सितंबर के अंत तक सभी उम्मीदवारों की घोषणा कर दी जाएगी. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि आधे उम्मीदवार तय हो चुके है बाकी प्रक्रिया में हैं.

राफेल सौदे पर राहुल एक बार फिर केंद्र सरकार पर हमलावर हुए और उन्होंने बीजेपी पर तीखा हमला करते हुए कहा कि वो भ्रष्टाचार से अछूती नहीं है. जिस हवाई जहाज का मात्र 540 करोड़ में यूपीए सरकार ने सौदा किया था उसे पीएम मोदी 1,600 करोड़ में खरीद रहे हैं. वो भी पुराने सौदे को रद्द किए बगैर.

राहुल गांधी से जब पूछा गया कि वो एनडीए सरकार से चार साल का हिसाब मांग रहे है. दूसरी ओर, बीजेपी उनसे साठ साल का हिसाब किताब मांग रही है, जिस पर कांग्रेस अध्यक्ष कुछ देर के लिए चुप हो गए. फिर उन्होंने मोदी और अमित शाह को कोसा. राहुल गांधी ने पुराने मुद्दों और मामलों को छोड़कर नए मसलों पर चर्चा करने की बात कर कई ऐसे चुभते हुए सवालो को टाल दिया.

राहुल गांधी कांग्रेस के नए मुख्यालय राजीव भवन का लोकार्पण करने रायपुर आए थे, लेकिन दिल्ली रवाना होने से पहले उन्होंने पत्रकारों के अलावा व्यापारियों, उद्योगपतियों और डाक्टरों के प्रतिनिधिमंडल से भी चर्चा की. साथ ही पार्टी के स्थानीय नेताओं से भी मिले.