खास खबर टू द पॉइंट

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा मेरी सरकार है तो मेरी ही फिलॉसफी चलेगी

images (2)

भोपाल. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को असंगठित श्रमिकों की संबल योजना को लेकर कहा, कोई यह न समझे कि यह योजना बांटने के लिए लाई गई है। मेरी सरकार है तो मेरी ही फिलॉसफी चलेगी। यह मेरी रणनीति है। ये दिमाग से निकाल दो कि ये योजना एेसे ही लाया हूं। अमीरों के पास ज्यादा पैसा है तो उनसे लेना है और गरीब को देना है। यह योजना क्रांति लाएगी। गरीबों को न्याय दिलाना है और दिलाकर रहूंगा। मुख्यमंत्री मंत्रालय में सीएस, एसीएस, पीएस और सचिव स्तर के अफसरों की समीक्षा बैठक कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा, केन्द्र सरकार में विभिन्न स्तरों मंजूर योजनाओं के लंबित बजट जल्द लाए जाएं। इसके लिए हर दिन केंद्र के अफसरों के सम्पर्क में रहे। उन्होंने 15 जुलाई से प्रदेश में पौधरोपण अभियान चलाने के निर्देश दिए। किसानों का सोयाबीन विदेशों को निर्यात करने की संभावना तलाशने के लिए केन्द्र के संबंधित विभागों और एजेंसियों से चर्चा करने को कहा।

अब कैबिनेट सोमवार को
सीएम ने कहा, अब कैबिनेट बैठक सोमवार को होगी और सभी काम इसी दिन एक साथ कराए जाएं, ताकि मंत्रियों को फील्ड में रहने का अधिक अवसर मिल सके।

फांसी सुनिश्चित कराना जरूरी
सीएम ने कानून व्यवस्था की समीक्षा में कहा, मासूम बालिकाओं से दुष्कर्म के मामले में दुराचारियों को धरती पर रहने का हक नहीं। एेसे मामलों में सुप्रीम कोर्ट तक फॉलो किया जाए और फांसी सुनिश्चित कराई जाए। उन्होंने कहा, हर १५ दिन में वे इन मामलों की समीक्षा करेंगे। शहीदों के सम्मान में १४ अगस्त का कार्यक्रम करने के लिए भी कहा गया।

सामान्य अपराधियों को छोडऩे की तैयारी
गरीब व कमजोर वर्गों के सामान्य व छोटे अपराध के मामले वापस लिए जाएंगे। कानून व्यवस्था की समीक्षा में सीएम ने इसके निर्देश सभी कलेक्टर व एसपी को दिए। ३१ जुलाई तक एेसे प्रकरणों की सूची तैयार करने के लिए कहा गया है।