सरकार की बात

मुझे कभी-कभी कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर दया आती है : पीएम मोदी

modi-2

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को नमो ऐप के जरिए भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. पीएम ने अरुणाचल प्रदेश, गाजियाबाद, हजारीबाग, जयपुर रूरल और नवादा संसदीय समिति के कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ बातचीत शुरू करने से पहले पीएम मोदी ने ट्वीट करके कहा ‘मेरा बूथ सबसे मजबूत संवाद’ के जरिए कार्यकर्ताओं से बात करने के लिए वो बेहद उत्साहित हैं.

प्रधानमंत्री ने गणेश चतुर्थी के मौके पर भगवान गणेश का आशीर्वाद लेकर कार्यकर्ताओं के साथ बातचीत शुरू की. मोदी ने अरुणाचल प्रदेश के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि पांच संसदीय सीटों के कार्यकर्ताओं से बात करके उन्हें खुशी हो रही है.

‘जड़ जितनी मजबूत होती है पेड उतना ही फलदाई और ताकतवर होता है’। मेरे लिए ये सौभाग्य का विषय है कि आज भारतीय जनता पार्टी की जड़ को सींचकर उसे एक घने वृक्ष रुपी पार्टी बनाने वाले ऐसे अनेक कार्यकताओं से बात करने का मौका मिला है: प्रधानमंन्त्री
प्रधानमंत्री मोदी ने पार्टी कार्यकर्ताओं का उत्साह बढ़ाने के लिए कहा कि हमारे कार्यकताओं की मेहनत, सामर्थ्य, पुरुषार्थ और संकल्प के कारण ही आज हमें इस मुकाम पर पहुंचे हैं. उन्होंने कहा कि जड़ जितनी मजबूत होती है पेड़ उतना ही फलदायी और ताकतवर होता है. मेरे लिए ये सौभाग्य का विषय है कि आज भारतीय जनता पार्टी की जड़ को सींचकर उसे एक घने वृक्षरूपी पार्टी बनाने वाले ऐसे अनेक कार्यकताओं से बात करने का मौका मिला है.’

पीएम ने कहा कि बीजेपी में नाम नहीं काम की पूछ होती है. उन्होंने कहा कि यहां नाम से नहीं काम से नेतृत्व तय होता है. बूथ स्तर के कार्यकर्ता को संगठन के शीर्ष के नेतृत्व की जिम्मेदारी को सौंपने का काम सिर्फ बीजेपी ही कर सकती है, चाहे वो पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हो या अलग-अलग राज्यों में हमारे मुख्यमंत्री हों.

उन्होंने कहा कि आज वो जहां हैं, कल कोई और होगा. पदभार व्यवस्था से मुक्ति मिल सकती है लेकिन कार्यभार से मुक्ति नहीं मिल सकती है. मोदी ने कहा जब तक हमारा जीवन है, हमें मां भारती के लिए काम करते रहना होगा.

पीएम ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि सभी विपक्षी पार्टियों ने अपनी हार मान ली है. कांग्रेस ने इस देश को निराश किया है. जबकि बीजेपी को सभी ने स्वीकार कर लिया है. उन्होंने कहा कि विपक्ष पिछले चार सालों में संभल भी नहीं पाया है.

पीएम ने कहा कि बीते चार वर्षों ने कांग्रेस और उसके कुछ सहयोगियों की पोल खोल दी है. पहले जनता ने उन्हें गवर्नेंस में असफलता, फैसले लेने की अक्षमता, भ्रष्टाचार के कारण बाहर का रास्ता दिखाया और जब विपक्ष की भूमिका निभाने का अवसर आया तो वहां भी वो फेल हो गए.

उन्होंने कहा, ‘कई बार तो मुझे कांग्रेस के अनेक पुराने कार्यकर्ताओं पर, जिन्होंने संघर्ष किया है, जमीन पर काम किया है, उनके प्रति संवेदना का भाव आता है. उनका संघर्ष, उनका सामर्थ्य सिर्फ एक परिवार के काम ही आ रहा है. एक से एक समर्थ लोग परिवार के विकास की भेंट चढ़ गए हैं.’

पीएम ने कहा कि बीजेपी ढूंढ-ढंढकर काम करती है. पहले ये देखा जाता था कि कितने गांवों में बिजली नहीं पहुंची है. अब पूछा जाता है कि देखो किसी गांव का कोई घर छूट तो नहीं गया है, जहां बिजली नहीं पहुंची हो. उन्होंने उज्जवला योजना पर कहा कि पहले इस बात पर माथापच्ची होती थी कितने एलपीजी कनेक्शन दिए जाएं, अब ये ढूंढा जा रहा है कि कहीं कोई गरीब उज्ज्वला योजना में छूट तो नहीं गया.

मोदी सरकार की योजनाओं पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि पहले गरीब के पास एक बैंक खाता हो, इस बारे में कोई सोचता तक नहीं था, अब आज पूछा जाता है कि ऐसा कौन सा घर है, जिसमें एक भी बैंक खाता नहीं है. पहले किसी को परवाह नहीं थी कि देश के हर गरीब के पास छत हो, आज पूछा जा रहा है कि कितने गरीबों के घर बनाने बाकी हैं.

पीएम ने कांग्रेस पार्टी पर भ्रष्ट्राचार को लेकर भी निशाना साधा. उन्होने कहा कि उसके राज में भ्रष्टाचार सिस्टम का हिस्सा बन गया था