टी वी तमाशा

शशि कपूर का निधन, बॉलीवुड के एक दौर का अंत

Shashi Kapoor dies

मुंबई। आज यहां शशि कपूर के अंतिम संस्कार के साथ बॉलीवुड एक दौर का अंत हो गया है। बॉलीवुड की और थिएटर की कई हस्तियों ने शशि जी को अंतिम विदाई दी। इनमें अमिताभ बच्चन,राजा बुंदेला,रणबीर कपूर,रणधीर कपूर सहित अनेक सितारे शामिल हैं।

गत दिवस दिग्गज अभिनेता शशि कपूर का निधन मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल में हुआ। 79 वर्षीय शशि कपूर काफी समय से किडनी संबंधी समस्या से गुजर रहे थे। इस खबर के मीडिया में आने के बाद पूरे देश में दुख की लहर दौड़ गई। पूरा बॉलीवुड सुन रह गया और शशि कपूर के घर पर बॉलीवुड सेलेब्स का तांता लग गया।
हिन्दी फिल्मों के सबसे खूबसूरत और नेक दिल इंसान के तौर पर पहचाने जाने वाले अभिनेता शशि कपूर सत्तर और अस्सी के दशक में बड़े पर्दे पर रोमांस के स्क्रीन आयकन के तौर पर देखे जाते थे। उन ने कई बड़ी फिल्म दी, जिनमें फूल खिले(1965), वक्त(1964), अभिनेत्री(1970), दीवार(1975), त्रिशूल(1978), हसीना मान जाएगी(1968) जैसी फ़िल्में शामिल है।
बतौर निर्माता भी शशि कपूर ने बॉलीवुड में कुछ बेहतरीन फिल्मों का निर्माण किया, जिनमें जुनून(1978), कलियुग(1980), 36 चौरंगी लेन(1981), विजेता(1982), उत्सव(1984) जैसी फिल्मों का नाम लिया जाता है। शशि के बारे में बताया जाता है कि एक वक्त था जब शशि कपूर एक दिन में चार फिल्मों का काम एक साथ किया करते थे। इस दिग्गज अभिनेता के निधन के बाद उनकों हमेशा उनकी फिल्मों के जरिए याद किया जाएगा।
आपको बता दे कि बॉलीवुड अभिनेता के निधन पर नेताओं ने भी प्रतिक्रिया दी है। उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने कहा कि हिंदी फिल्मों के नामचीन अभिनेता शशि कपूर के निधन से दुख हुआ। तमाम फिल्मों में उनके दमदार अभिनय के लिए वह सदैव याद किए जाएंगे। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें। वहीं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि वह बेजोड़ अभिनेता थे। उन्होंने राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लीक से हटकर समानंतर सिनेमा के लिए सफल योगदान दिया।