टी वी तमाशा

जूही को माधुरी से हुई थी इनसिक्योरिटी, ईगो प्रॉब्लम की वजह से नहीं की थी यशराज की ये फिल्म

madhuri-juhi

बॉलीवुड एक्ट्रेस जूही चावला ने 90 के दशक में स्क्रीन पर अपने खूबसूरत और मासूम चेहरे से दर्शकों को अपना दीवाना बनाया। वहीं इसी दौर में दूसरी तरफ माधुरी दीक्षित अपनी अदाओं और एक्टिंग के दम पर दर्शकों का दिल जीत रही थीं। ऐसे में दोनों एक्ट्रेस की तुलना होना आम बात थी। दर्शक अब इन दोनों एक्ट्रेस को एक साथ एक ही फ्रेम में देखना चाहते थे। ऐसे में यशराज ने माधुरी और जूही को एक फिल्म में काम कराने का मन बनाया। फिल्म का नाम था-दिल तो पागल है।

इस फिल्म में माया (पूजा) का किरदार निभाने के लिए जब माधुरी दीक्षित से पूछा गया तो उन्होंने फिल्म के लिए तुरंत हां कर दिया। वहीं इस फिल्म में निशा के रोल के लिए जूही चावला को अप्रोच किया गया तो उन्होंने इसे करने से इनकार कर दिया। जूही के मना करने के बाद इसी रोल के लिए करिश्मा कपूर से पूछा गया। करिश्मा ने इस रोल को करने के लिए हां कर दिया। बाद में ये फिल्म शाहरुख खान, माधुरी दीक्षित और करिश्मा कपूर के साथ बनी। जो कि सुपरहिट साबित हुई।

जूही एक इंटरव्यू के दौरान बताती हैं, ‘माधुरी और मेरे करियर की शुरुआत सेम साल में ही हुई। ‘तेजाब’ के कुछ महीनों बाद ‘कयामत से कयामत तक’ आई थी। इसके बाद हमारी तुलना होती रहीं। इसके बाद यश जी एक बार आए और उन्होंने ‘दिल तो पागल है’ के लिए मुझसे पूछा। उन्होंने कहा कि माधुरी भी है, तुम दूसरा रोल कर लो। तो मैंने कहा मैं दूसरा वाला रोल करूं? तो वो कुछ इनसिक्योरिटी और कुछ ईगो प्रॉब्लम की वजह से नहीं हो पाया। तो मैंने नहीं किया। वह सिर्फ एक मौका था।’ हालांकि जूही और माधुरी ने फिल्म ‘गुलाब गैंग’ में साथ काम किया। इस फिल्म में जूही चावला ने निगेटिव किरदार निभाया था।